Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi

बेटियों का सम्मान – Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi  हमारी पृथ्वी के प्रकृति को संतुलित करने  में बहुत से घटको की जरूरत होती है, जिसमें आदमी और औरत के अस्तित्व का होना भी अतिआवश्यक माना जाता है | लेकिन हमारे समाज से कुछ लोगो के कारण आज हमारे समाज से बेटियों के भ्रूण हत्या और शोषण का मामला प्रकाश में आते रहता है | समाज से लड़कियों के इस मुद्दे को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने यह योजना शुरू की है | 

Best Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi 

Start of Beti Bachao Beti Padhao Scheme

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की शुरुवात 22 जानवरी 2015 को हरयाणा के पानीपत से की गयी| लोगों को जागरूक होने की जरुरत है उन्हें समझना होगा की औरतों के बिना हमारा कोई अस्तित्व ही नहीं रहेगा | आज जहां विज्ञान इतनी तरक्की कर रही है वहीं कन्या भ्रूण हत्या, औरतों पर शोषण जैसी घटनायें बढ़ती चली जा रही है | जिस कारणवश समाज में लड़कियों की घटती आबादी एक चिंता का विषय है | 

आज के दौर में जहाँ लड़कियां देश में तरक्की कर रही है, वही अभी भी कई जगह अभी भी लड़कियों को घर से निकलने की पाबंदी है | वो बहार से निकलना तो दूर की बात वो शिक्षा से भी दूर हैं | सरकार भी इस मुद्दे को गंभीरता से ले रही है जिसके तहत सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुवात की है | जिसमे सरकार बेटियों की पढ़ाई से लेकर उनकी शादी के लिए भी सरकार पैसे मुहैया करवाती है | इसलिए( Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi )लिखा है 

सरकार के इस पहल से शायद बेटियां उन्हें बोझ ना लगें जो बेटियों के जन्म से पूर्ण ही उनकी हत्या  कर देते हैं | लोगों की इस हीन भावना को बदलना अत्यंत आवश्यक है | बेटियों को भी समाज में लड़कों की ही भांति सामान अधिकार मिलना चाहिए | 

Essay On Bachao Beti Padhao In Hindi 

इस योजना के तहत महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोकने  का भारत सरकार के द्वारा उठाया  गया एक महत्वपूर्ण पहल है | निरंतर लड़कियों के घटते जनसँख्या एक चिंता का विषय है जिससे निजात पाने के लिए इस योजना की मुख्य भूमिका रहेगी | इस योजना के द्वारा समाज में हो रहे लड़कों और लड़कियों के बिच हो रहे भेदभाव को मिटाना है | लड़कियों की शिक्षा पर भी जोर दिया गया है | 

आज भी बेटियों को घर के चारदीवारी के अंदर ही बंद रखा जाता है, जिससे उन्हें अशिक्षित ही रहना पड़ता है | इस योजना के फलस्वरूप लड़कियों को भी शिक्षित किया जायगा जिससे वो अपना भविष्य संवार सकेगी | लड़कों से कहीं अधिक लड़कियां प्रतिभाशाली साबित हो रहीं हैं| लड़कियां कई छेत्र में अपना परचम लहरा रहीं हैं | और आने वाला समय में लड़कियां समाज में अपना एक अलग ही स्थान हासिल करेंगी | 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की अवश्यकता क्यों पड़ी – 

समाज में निरंतर लड़कों की जनसँख्या बढ़ती चली जा रही है | कई लोगो को देखा गया है जब तक उनके घर लड़का पैदा नहीं हो जाता तब तक वो बच्चों को जन्म देते रहते हैं | इस कारण देश में जनसँख्या वृद्धि भी तेज हो गयी है | देश में जनसँख्या वृद्धि एक चिंता का सबक बना हुआ है | जनसँख्या वृद्धि के कारण देश में रोजगार की कमी भी तेज़ी से बढ़ती चली जा रही है| 

यह भी पढ़े:- हमारी माँ एक जननी – About Maa In Hindi

लड़कियों के जनसँख्या घटने के कारण देश में आज कल बलात्कार की घटनायें भी काफी बढ़ गयी है | अधिकांश छेत्रों में लड़कों के मुकाबले लड़कियों की जनसँख्या कम है, जिस कारण वहाँ प्रतिदिन छेड़छाड़ की घटनाएं आते रहते हैं | 

जब तक ये भेदभाव समाप्त नहीं हो जाती तब तक देश तरक्की की राह में धीरे ही चलेगी | देश में आधी आबादी महिलाओं की भी है अगर महिलाएं ही शिक्षित नहीं होंगीं तो देश जल्दी तरक्की भी नहीं कर पाएगा | घर में अगर महिलाएं शिक्षित नहीं होंगीं तो वो अपने बच्चों को क्या शिक्षा प्रदान करेंगी | 

सरकार निरंतर प्रयास करते रहती है की नयी नयी योजना के अंतर्गत महिलाओं की सुरक्षा और उनपर हो रहे अत्याचार को रोकने  लिए प्रयास करते रहती है | लेकिन सरकार को भी इस गंभीर मुद्दे को देखते हुए ठोस कानून लाना होगा जिससे महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोका जा सके | सभी को सख्ती से उस कानून को मानना पड़ेगा तभी इस समस्या का समाधान मिल  सकता है | 

उपसंहार –

हम सभी को कन्या भ्रूण हत्या को रोकने का प्रयास करना होगा | साथ ही साथ लड़कियों को शिक्षित करने का भी प्रयास करना होगा | लड़कियों को भी समाज में लड़को के भाति सामान अधिकार मिलना चाहिए | उनके उज्जवल भविष्य के लिए हमें सरकार के तरफ से चलाये गए सभी योजनाओं को अपनाना चाहिए | 

“बेटी है कुदरत का अनमोल उपहार 

जीने और पढ़ने का दो सामान अधिकार”    

आपको हमारा ये आर्टिकल बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध ( Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hind) अगर अच्छा  लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और कमेंट कर के भी हमें बातये धन्यवाद | i

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *