Essay on Coronavirus in Hindi

कोरोना क्या है, लक्षण एवं वचाव Essay on Coronavirus in Hindi 

कोरोना वायरस की महामारी का 1 वर्ष समाप्त हो चुका है | बीते हुए वर्ष इस वायरस की वजह से करोड़ो लोगो ने अपनी जान से हाथ धोया है | चीन देश से भारत देश में आया यह वायरस  खतरनाक हो सकता था किसी ने यह सोचा भी नहीं था | यह वायरस अब पहले से भी ज्यादा खतरनाक और तेजी से फैलने लग गया है | इस लिए इससे सावधानी बहुत जरुरी है इस बात को ध्यान में रखते हुए हमने Essay on Coronavirus in Hindi पर लिखा है | 

कोरोना वायरस क्या है – Essay on Coronavirus in Hindi 

नोवेल कोरोनावायरस, यह कोरोना वायरस की नया नस्ल है | यह एक ऐसा वायरस जो संक्रमण के द्वारा फैलता है | जिसके जुकाम, बुखार से और साँस लेने तक की सभी समस्या हो सकती है | यह वायरस सब के लिए एक अजनबी था लेकिन चीन में दिसंबर 2019 वुहान क्षेत्र में सबसे पहले देखा गया | इसमें संक्रमण के अनुसार जुकाम, बुखार सांस लेने में तकलीफ और गले में खराश जैसी समस्या का उत्पन्न होना हैं। यह वायरस तेजी से फैलने वाला संक्रमण वायरस है  जो की एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैलता है | यह वायरस अब तक 70 से ज़्यादा देशों में फैल चुका है। 

अस्वस्थ महसूस होने पर क्या करें?

जब तक आप ठीक नहीं हो जाते, खांसी, सिरदर्द, हल्का बुखार जैसे मामूली लक्षण होने पर भी घर पर रहें और आत्म-अलगाव करें। सलाह के लिए अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता या हॉटलाइन पर कॉल करें। क्या कोई आपके लिए आपूर्ति लेकर आया है। अगर आपको अपना घर छोड़ना है या आपके पास कोई है, तो दूसरों को संक्रमित करने से बचने के लिए मेडिकल मास्क पहनें।

यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई है, तो तुरंत चिकित्स्क से सहायता लें। यदि आप कर सकते हैं तो पहले टेलीफोन द्वारा कॉल करें और अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें।

विश्व स्वास्थ्य संगठन या आपके स्थानीय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य अधिकारियों जैसे विश्वसनीय स्रोतों से नवीनतम जानकारी पर अद्यतित रहें। स्थानीय और राष्ट्रीय अधिकारियों और सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयों को यह सलाह देने के लिए सबसे अच्छी स्थिति में रखा गया है कि आपके क्षेत्र के लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए क्या करना चाहिए।

कोरोना वायरस के लक्षण 

2019 में जब यह वायरस आया था तब किसी को भी इसके लक्षणों के बारे में ठीक तरह से पता नहीं था लेकिन धीरे – धीरे इस वायरस की जाँच करने से हमे इसके लक्षणों के बारे में पता चला जो निम्न प्रकार है –

बुखार का न टूटना – 

 Covid19 से पहले ये जरुरी नहीं था की बुखार का आना या बुखार का लगातार कई दिनों तक आना कोई जानलेवा बीमारी हो सकती है सभी लोग इसको ज्यादा गहराई से नहीं देखा करते थे | लेकिन दिसंबर 2019 के बाद बुखार आना तो नार्मल बात थी लेकिन बुखार का ना टूटना मनुष्य के लिए हानि कारक हो सकता है | अब यदि किसी भी व्यक्ति को बुखार आता है तो वह तुरंत अपने डॉक्टर से इलाज लेना शुरू कर दे और वायरस की जाँच अवश्य कराये क्योकि इसमें लापरवाही करना जिंदगी ला सकता है |  

जुकामऔर खांसी होना – 

जुकाम, खांसी होना हर किसी के लिए एक आम बात थी जब कोरोना वायरस नहीं आया था लेकिन अब यह आम बात नहीं है | जुकाम खांसी से भी कोरोना वायरस हो सकता है | लेकिन अब इसे आम समझा जा सकता है क्योकि जुकाम खांसी होने पर अगर यह समाप्त नहीं हो रही है तो ये जानलेवा कोरोना वायरस का रूप ले सकती है | खांसी होने पर तड़ी आपके गले में खरास उत्पन्न होती है और वह समाप्त नहीं हो रही है जल्द से जल्द नजदीकी डॉक्टर को दिखाकर अपना इलाज करवाय नहीं तो यह आपके लिए घातक सावित हो सकता है | 

साँस लेने में समस्या 

हमे जुकाम खांसी होने के दौरान यह समस्या उत्पन्न होती है, अधिकतर यह खांसी होने होती है | खांसी होने पर हमे यदि साँस लेने में समस्या हो रही है तो यह भी कोरोना वायरस को प्रदर्शित करता है | खांसी होने के दौरान हमारे गले खरास होना जिससे हमारे फेफड़ो पर प्रभाव पड़ता है जिसके कारण हमे साँस लेने में परेशानी उतपन्न हो सकती है  तुरंत डॉक्टर से सलाह ले और covid19 की जाँच करावें |  

अपने पर्यावरण को सुरक्षित कैसे बनाएं

 ऐसे स्थान जो बंद हैं, भीड़भाड़ वाले हैं या निकट संपर्क में हैं। रेस्तरां, गाना बजाने वालों की प्रथाओं, फिटनेस कक्षाओं, नाइट क्लबों, कार्यालयों और पूजा स्थलों में प्रकोप की सूचना मिली है, जहां लोग इकट्ठा होते हैं, अक्सर भीड़-भाड़ वाली इनडोर सेटिंग्स में जहां वे जोर से बात करते हैं, चिल्लाते हैं, जोर से सांस लेते हैं या गाते हैं।

भीड़-भाड़ वाले और अपर्याप्त हवादार स्थानों में कोविड-19 होने का जोखिम अधिक होता है, जहां संक्रमित लोग एक साथ लंबे समय तक निकटता में रहते हैं। ये ऐसे वातावरण हैं जहां वायरस श्वसन की बूंदों या एरोसोल द्वारा अधिक कुशलता से फैलता प्रतीत होता है, इसलिए सावधानी बरतना और भी महत्वपूर्ण है।

बाहर के लोगों से मिलें। बाहरी सभाएं घर के अंदर की सभाओं की तुलना में अधिक सुरक्षित होती हैं, खासकर अगर घर के अंदर की जगह छोटी हो और बाहरी हवा अंदर न आ रही हो।
पारिवारिक समारोहों, बच्चों के फ़ुटबॉल खेलों और पारिवारिक अवसरों जैसे आयोजनों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, छोटे सार्वजनिक समारोहों पर हमारे प्रश्नोत्तर पढ़ें।

भीड़-भाड़ या इनडोर सेटिंग से बचें, लेकिन अगर आप ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो सावधानी बरतें:
एक खिड़की खोलो। घर के अंदर ‘प्राकृतिक वेंटिलेशन’ की मात्रा बढ़ाएं।
डब्ल्यूएचओ ने आम जनता और सार्वजनिक स्थानों और इमारतों का प्रबंधन करने वाले लोगों दोनों के लिए वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग पर प्रश्नोत्तर प्रकाशित किया है।
मास्क पहनें  

Covid19 से वचाव 

कोरोना से वचाव के लिए हम जितना हो सके घर पर रहे | हमे सरकार के द्वारा कुछ गॉइडलाइन्स दी गई है जो की वचाव में हमारी बहुत सहायता करती  है | इनका पालन सख्ती से करने से हम कोरोना वायरस से वचे रह सकते है –

  • अपने हाथों को साबुन या हैंडवॉश से धोना चाहिए।
  • घर में रहे सुरक्षित रहे | 
  • जिसमे अल्कोहल मिला हुआ हो उस सनेटाइज़र का इस्‍तेमाल करना है।
  • खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल को रुमाल से ढक कर रखें | 
  • जिन सर्दी और खांसी या जुकाम के लक्षण हों, तो उनसे २ गज की दूरी बनाकर रखें।
  • हमे कही भी बाहर जाने के लिए दो गज की दूरी और मास्क है जरुरी इस पर अम्ल करना चाहिए | 
  • अपने हाथों से आँख, नाक और मुँह को छूने से बचें | 
  • यदि आप किसी संक्रमित गजह से अपने घर गए है तो १४ दिनों के लिए अलग रहे और अपने परिवार से दुरी बनाकर रखें | 
  • भारत सरकार द्वारा जो वैक्सीन लगाने के कैंप लगाए गए है उनमे जाकर अपना वैक्सीनेशन अवश्य करवाये |   

हमारे द्वारा आपको जो Essay on Coronavirus in Hindi पर बताया गया है वो इसके के सम्पूर्ण अध्यनन करने के बाद  बताया गया है | Covid19 को 21 मार्च 2021 को एक साल हो गया था लेकिन अब इसके कुछ नये केस सामने आने लगे है जिसके कारण कई राज्यों में नाईट कर्फ्यू लगा दिया गया है | इसलिए हमे इससे अभी भी बहुत सावधानी वरतने की आवश्यकता है | 

 

Admin

Hello, My name is vishnu. I am a second-year college student who likes blogging. Please have a look at my latest blog on hindiscpe

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published.