KFC Founder Colonel Harland Sanders

एक सफल बिजनेसमैन KFC Founder Colonel Harland Sanders

दोस्तों  hindiscope में आपका स्वागत है। आज हमने इस आर्टिकल में KFC Founder Colonel Harland Sanders  के बारे में बताया है और आज का यह आर्टिकल feelbywords ने लिखा है बिना किसी देरी के जानते है दुनिया की सबसे मशहूर फ़ास्ट-फ़ूड कंपनी KFC के Founder ‘Colonel Harland Sanders के बारे में। 

कोई आदमी कितनी बार असफल हो सकता है? 

१० बार ,१५ बार या ५० बार. या फिर शायद इन प्रयासों के बाद अपनी कोशिश ही छोड़ दे | लेकिन इन जनाब ने १००९ बार असफल होने के बाद भी अपनी कोशिश जारी रखी | और आखिरकार मंजिल को पाकर ही छोड़ा और वह भी ६५ साल की उम्र में .
एक बार इंग्लैंड के प्रधान मंत्री रहे Winston Churchill ने कहा था की बार-बार असफल होने पर भी उत्साह को न खोना ही सफलता है | और इन्होंने 

इस कथन को सही साबित करके दिखाया | उनका नाम Colonel Harland Sanders है | दुनिया की सबसे मशहूर फ़ास्ट-फ़ूड कंपनी KFC के Founder ‘Colonel Harland Sanders की आज हम  बात कर रहे है | इन्होंने अपने सम्पूर्ण जीवन एक के बाद एक संघर्ष ही संघर्ष किया | फिर भी उन्होंने हार  नहीं मानी और अपना संघर्ष चालू रखा | यहां उनके मजबूत मन , धैर्य  और हिम्मत की दाद देनी पड़ेगी |

ऐसे उदाहरण दुनिया में १-२ ही देखने को मिलते है दुनिया के ९९%लोग २ या ३ बार असफल होने के
बाद अपनी हार मान लेते है या हताश हो जाते है | और अपना उद्देश्य छोड़ देते है | लेकिन इन्होंने ऐसा नहीं किया |    

मुश्किल इस दुनिया में कुछ भी नहीं,
फिर भी लोग अपने इरादे तोड़ देते है,
                          अगर सच्चे दिल से हो चाहत कुछ पाने की,
तो सितारे भी अपनी जगह छोड़ देते है

 Colonel Harland Sanders जी ने अपने पूरी जिंदगी में संघर्ष किया, असफलता और परेशानी से जूझते रहे, फिर भी हार ना मानते हुए अपने प्रयासों को जारी रखा | और अपने अंतिम दिनों में   सफलता की ऐसी मिसाल कायम कीके कोई भी दांतों तले उँगली दबा लेगा |

KFC यानी की Kentucky Fried Chicken कंपनी के Founder Colonel Harland Sanders.

इनका जन्म ९ सितम्बर १८९० को इंडियाना के हेनरिले इस छोटे से शहर में हुआ था | इस Colonel Harland Sanders का बचपन कुछ खास नहीं था | वे जब ५ साल के थे तब उनके पिता की मौत हो गयी घर की परिस्थितियाँ कुछ ऐसी हो गयी की ७ साल की उम्र में उनपर छोटे भाई और बहन की जिम्मेदारियां

आ गयी | नौकरी के लिए उन्हें दर-दर की ठोकरें खानी पड़ी | कही पर वे स्वयं नौकरी छोड़ते, तो कही उनको नौकरी से निकाला जा रहा था | उनकी माँ को काम करने के लिए बाहर निकलना पड़ा | उनकी माँ  टमाटरों की एक फैक्टरी में काम किया करती थी | वे घर पर अपने छोटे भाई बहन का ख्याल रखा करते थे |

और शायद इसी वजह से उन्होंने ७वी तक पढ़ाई की | और इसके बाद घर खर्च निकलने के लिए उन्हें  नौकरी करनी पड़ी | इस दौरान उन्होंने घर पर खाना बनाना और अलग-अलग Dishes बनाना सिख लिया था

पढ़ाई छोड़ने के बाद उन्होंने एक खेत में सहयोगी के तौर पर काम किया | धीरे- धीरे वक्त बीतता गया जब वे १६ साल के नौजवान थे तब वे अपनी उम्र को छिपाकर American Army में शामिल हो गए | लेकिन 

१ साल बाद जब यह उम्र की बात बाहर आई तो उन्हें Army से निकाला गया | इसके बाद उन्होंने रेलवे में  मजदूरी की ,लेकिन यहां भी ज्यादा समय टीक नहीं पाए | और बाकी मजदूरों के साथ झगड़े के चलते उन्हें 

वहां से निकाल दिया गया | वैसे तो वे जब १० साल के थे तब उनकी माँ ने दूसरी शादी कर ली थी | सौतेले  पिता के अत्याचारों से तंग आकर उन्होंने १२ साल की उम्र में अपने छोटे भाई-बहन के साथ घर छोड़ दिया था लेकिन अब रेलवे की नौकरी से निकालने के बाद हताश होकर Sanders अपनी माँ के पास आकर रहने लगे |

KFC Founder Colonel Harland Sanders

यहां पर उन्होंने एक Insurance Agent के तौर पर काम शुरू किया | लेकिन यहां भी आदेशों की अवहेलना   के लिए काम से हाथ धोना पड़ा | बार-बार मिल रही असफलता के कारण वे हताश जरूर हुए थे लेकिन 

उन्होंने हार नहीं मानी | १८ साल की उम्र में उन्होंने शादी की थी, परन्तु उनके बार-बार नौकरी छोड़ने के  कारण से पत्नी ने भी उनको छोड़ दिया १९२० में उन्होंने नाव बनाने की एक कंपनी खोली | कुछ समय बाद उन्होंने इसकी जगह लैंप 

बनाने का काम शुरू करने का विचार किया | Sanders फ़िलहाल इसके बारे में सोच ही रहे थे की एक अन्य  कंपनी ने काफी बेहतर लैंप को बाजार में उतर दिया | और बेचारे Sanders इस काम को शुरू ही नहीं कर पाए |  १० साल का समय बीतता ही गया लेकिन Sanders की गाड़ी पटरी पर नहीं आ पाई | ४० की उम्र में 

उन्होंने फैसला किया की वे चिकन के पकवान बेचने का काम करेंगे | उस वक्त वे oil  & Gas  स्टेशन पर काम कर रहे थे | वह स्टेशन हाईवे पर थाइसलिए लोगों का वहां पर गाड़ियों में पेट्रोल भरने के लिए आनाजाना था अपने चिकन का स्वाद लोगों तक पहुंचने के लिए Sanders ने सड़क से गुजरने वाले लोगों को इसे मुफ्त में बाँटा

कुछ समय बाद सड़क के किनारे उसी जगह उन्होंने अपना एक छोटा सा Restaurant खोल लिया १९३५ के दौरान जब १ बार वहां के Governor रूबी लफ़ून सड़क से गुजर रहे थे  तो उन्होंने वहां पर नाश्ता 

किया | यहां का चिकन उन्हें इतना पसंद आया की उन्होंने इस Restaurant को Kentucky  Colonel  नाम दिया | हालाँकि लोग उन्हें जानने लगे थे | और ये Restaurant भी मशहूर हो गया | पर ये काम ज्यादा दिन नहीं चला

एक झगड़े के चलते ४ साल बाद इसे भी बंद करना पड़ा | इसके बाद उन्होंने एक नया Restaurant खोला, लेकिन इस बार दूसरे विश्वयुद्ध के चलने से यह भी बंद करना पड़ा  उम्र के ६५ वे साल में उन्होंने गली-गली घूमकर अपने चिकन का स्वाद लोगों तक पहुंचाया

६५ साल की उम्र तक वे इतना संघर्ष करने के बावजूद अपना पेट भरने के अलावा कुछ नहीं कर सके

अब तक Sanders लोगों को अपने चिकन का स्वाद चखा चुके थे , पर Restaurant बंद होने के कारण लोग उनके चिकन को नहीं खा पा रहे थे |   ऐसे में उन्होंने सोचा की क्यों न अपने Restaurant के आगे Branches खोली जाए, इसलिए उन्होंने फैसला किया की  वे एक-एक Restaurant में जाकर अपनी Recipe देंगे और मुनाफे में हिस्सेदारी खरीद लेंगे | पर ये इतना आसान भी 

नहीं था | काफी समय तक Sanders को इसमें सफलता नहीं मिली | वे जिस Restaurant में अपनी Recipe लेकर 

जाते थे इसे वे लोग Reject कर देते थे | उनकी Recipe १००९ बार Reject हुई, लेकिन Sanders का हौसला कहा टूटने वाला था. वे लगातार कोशिश करते रहे आखिरकार वह समय आया जब उनकी कोशिश सफल हुई | उनकी Kentucky  Fried  Chicken  की 

Recipe इतनी Popular हुई की अब KFC की branches सिर्फ शहर में ही नहीं दुनिया के अलग-अलग देशों में पहुंच गयी | अपनी गलतियों से सिख लेने के बाद उन्होंने ६५ साल की उम्र के बाद ऐसी कंपनी बना डाली 

जिसके Branches दुनिया के ११८ देशों में से ज्यादा देशों में है | और हर साल कंपनी खरबों रुपये कमाती है दोस्तों आप सभी से मेरा निवेदन है की आप भी अपने जीवन में लगातार आ रही असफलताओं से 

परेशान है या आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते है | जो अपने जीवन में संघर्ष कर रहा है, तो आप उन्हें निश्चित ही यह कहानी सुनाइए | Colonel Harland Sanders ने अपने जीवन की ६५ साल की उम्र के बाद सफलता हासिल की | जिस उम्र के पड़ाव में लोग Retired  होते है उसी उम्र में उन्होंने सफलता हासिल की | साल १९६४ के आते-आते 

KFC की ६०० branches खुली | इसके बाद Colonel Harland Sanders ने अपनी इस कंपनी को २ Million Dollar में  अपने निवेशकों को बेच दिया | इसके बाद १९६९ में KFC  का नाम New York के Stock Exchange में गूंजने लगा | समय के साथ- साथ KFC  का रुतबा बढ़ा तो इसकी Branches की संख्या ६०० से ३५०० तक पहुंच गयी  १९७१ में इस कंपनी को युबलेन इंडस्ट्री ने  २८५ Million Dollar में खरीद लिया | फिर युबलेन को 

रेनॉल्स ने खरीद लिया | जिसके चलते KFC  उनकी कंपनी का हिस्सा बन गयी आखिरकार १९८६ में दुनिया भर में Cold DrinksPepsi Product बनाने वाली कंपनी ने ८४० Million Dollar में KFC को खरीद लिया | इसके बावजूद आज भी KFC  को Sanders के चेहरे से ही जाना जाता है | आज भी दुनिया भर में 

KFC के Brand Logo पर Sanders की तस्वीर लगी है | उनकी दाढ़ी और Western Tie, KFC  की पहचान है  दुनिया भर के लोगों को अपने हाथों के स्वाद से अपना दीवाना बनाने वाले Sanders की ९० की उम्र में 

१६ दिसंबर १९८० को मौत हो गयी | अपने चिकन की लाजवाब Recipe के चलते वे दुनिया भर के लोगों के याद में ज़िंदा है  दुनिया भर में एक अनुमान के  मुताबिक KFC  की साल २०१७ तक लगभग २२००० Branches  थी Colonel Harland Sanders के जीवन की संघर्ष भरी सच्ची कहानी यह उन लोगों के लिए सिख देनेवालीप्रेरणा दाई, और वरदान है जो अपने जीवन में बार-बार आने वाली असफलताओं से परेशान है |   दुनिया Colonel Harland Sanders को और उनके स्वाद को हमेशा याद रखेगी

लेखक का परिचय: यह Article सौरभ गौरकर द्वारा लिखा गया है | यह एक लेखक, Blogger, Certified Digital Marketer, कार्यरत SEO है | आप इनकी वेबसाइट Feelbywords पर भेट दे सकते है

यदि आपको हमारा यह Article पसंद आया या आप हमें कोई सुझाव देना चाहते है तो हमें Comment Box में अवश्य बताए | आपके Comments से हमें प्रोत्साहन मिलता है | ऐसे ही और प्रेरक कहानियों के लिए जुड़े रहिये हमारे साथ |

Admin

Hello, My name is vishnu. I am a second-year college student who likes blogging. Please have a look at my latest blog on hindiscpe

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *