Lata Shabd Roop

बच्चो के लिए आसान भाषा में लता शब्द रूप -Lata Shabd Roop

(Lata Shabd Roop) रूप हमने अपने अपने स्कूलों में जरूर पढ़ा होगा यह छोटी क्लासो में ज्यादा पढ़ाया जाता हैLata Shabd Roop यह हमेशा संस्कृत में ही होते है जब हम भी छोटे थे तो यह हमारे शायद छठी या फिर सातवीं क्लास में आते थे। इनमे एक शब्द होता है जिनके कई रूप होते है जैसे एकवचन में दिव्यवाचन में एवं बहुवचन में। यह शब्द हमेशा उच्चारण करते समय काफी सही लगते है। तथा यह छोटे बच्चो को जरूर याद करनी चाहिए। ऐसे कुछ लता सब्दो के बारे में हमने यह संस्कृत एवं हिंदी दोनों में ही बताया है। जिसके द्वारा बच्चो को इसे पढ़ने में कोई भी कठिनाई नहीं होगी। तो चलिए देखते है।

यह लता शब्द के कुछ रूप बताये गए है जो कोई संस्कृत में है। इसी प्रकार से इसमें कुछ और भी शब्द होते है जैसे राम शब्द नदी शब्द आदि।

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमालतालतेलता:
द्वितीयलतामलतेलता:
तृतीयलतयालताभ्यामलताभी:
चतुर्थीलताएंलताभ्यामलातभय
पंचमीलताया:लताभ्यामलातभय
षष्ठीलताया:लतयो:लतानाम
सप्तमीलतायामलतयो:लतासु
सम्बोधनलतेलतेलता:

यहां पर ऊपर दिए गए संस्कृत में लता शब्द के रूपों को हिंदी में बताया गया हैLata Shabd Roop। तथा इसे हिंदी व्याकरण में किस प्रकार से प्रयोग करते है। उसके बारे में भी बताया गया है। अगर आपको यह अच्छा लगता है तो आप हमारा यह ब्लॉग भी पढ़ सकते है।बालक के शब्द रूप – Balak Shabd Roop

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमालता (लता, लता ने)लता (लता, लता ने)
द्वितीयलताम् (लता को)लते (दो लताओं को)लताः (अनेक लताओं को)
तृतीयलतया (लता से, लता के द्वारा)लताभ्याम् (दो लताओं से, दो लताओं के द्वारा)लताभिः (अनेक लताओं से अनेक लताओं के द्वारा)
चतुर्थीलतायै (लता के लिए, लता को)लताभ्याम् (दो लताओं के लिए, दो लताओं को)लताभ्यः (अनेक लताओं के लिए, अनेक लताओं को)
पंचमीलतायाः (लता से)लताभ्याम् (दो लताओं से)लताभ्यः (अनेक लताओं से)
षष्ठीलतायाः (लता का, लता के, लता कीलतयोः (दो लताओं का, दो लताओं के, दो लताओं की)लतानाम् (अनेक लताओं का, अनेक लताओं के, अनेक लताओं की)
सप्तमीलतायाम् (लता में, लता पर)लतयोः (दो लताओं में, दो लताओं पर)लतासु (अनेक लताओं में, अनेक लताओं पर)
सम्बोधनलते (हे लता!)लते (हे दो लताओं!)लताः (हे अनेक लताओं!)

Admin

Hello, My name is vishnu. I am a second-year college student who likes blogging. Please have a look at my latest blog on hindiscpe

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *