Poem For Rain in Hindi

5+ वर्षा ऋतु पर मजेदार कविताएँ – Poem For Rain in Hindi

Poem For Rain in Hindi दोस्तों आज हमने बारिश पर कविताये लिखी है। अक्सर विधालयो में छात्रों से वर्षा ऋतू पर कविता लिखवायी जाती है,इसलिए हमने यह कविताये लिखी है। इस लेख में हमने स्रवश्रेष्ठ कविताओं का संग्रह किया है। यह पोएम आपको बहुत पसंद आएगी क्यूंकि वर्षा ऋतू हमारे जीवन में अलग ही महत्व होता है जब गर्मी के बाद वर्षा ऋतू आती है तो मौसम बहुत ही सुहाना और हराभरा हो जाता है जो देखने योग्य है | 

Best Poem For Rain in Hindi

Poem For Rain in Hindi

रिमझिम रिमझिम पानी बरसे 
टपक रही है बुँदे सरसे। 

अब जाके मिली ठंडक सबको 
जिसके लिए महीनो तरसे। 

घिर आयी है घनघोर घटा,
पत्ता गर्मी का है कटा। 

आसमान से पर्दा हटा 
उतरा पानी सबमे बटा। 

झूमी खुशियाँ चारो और 
किलकारी निकली हर घरसे

पौधे खुश है पाके पानी 
मोर भी नाचे बन दीवानी। 

भगवान इंद्र है कितने दानी 
देख के सबको हो हैरानी। 

रिमझिम रिमझिम पानी बरसे 
टपक रही बारिश की बुँदे

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > 7+ नदी पर सुप्रसिद्ध कविताए 

Poem On Rain In Hindi 

Poem For Rain in Hindi

रिमझिम-रिमझिम बरसा पानी,
देखो आ गई वर्षा रानी।

काले-काले बादल गरजे,
झम-झमाझम, जमकर बरसे।

चम-चम बिजली चमक रही है,
चारों ओर हरियाली है।

छम-छम बूंद बरस रही है.
घनघोर घटा मतवाली है।

भर गए सारे ताल-तलैया,
मेढक गीत सुनाते हैं।

सोधी मिट्टी महक रही है.
पेड़ खड़े मुस्काते हैं।

मैं भी आऊ तुम भी आओ.
बारिश में सब यब नहाओ।

कागज की सब नाव बनाओ,
मिलकर पानी में तेराओ।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > 5+ पक्षियों पर बेहतरीन कविताये 

Short Poem On Rain 

Poem For Rain in Hindi

जब काले बादल आते हैं,
खूब पानी बरसाते हैं।

मोर नाच दिखाते हैं,
मेंढक खूब टरति हैं।

छाते सबके खुल जाते हैं,
बच्चे नाव तैराते हैं।

सर्दी, गर्मी या बरसात,
हमें सारे मौसम भाते हैं

वर्षा/बारिश कविता 

Poem For Rain in Hindi

जब जब ये बारिश आए,
सब कुछ खिल जाए,

जब जब ये बारिश आए,
मेरा दिल ख़ुशी से भर जाए,

जब जब ये बारिश आए,
हर मन प्रसन हो जाए,

जब जब ये बारिश आए,
हर दुःख धुर हो जाए।

Rain Poem in Hindi

Poem For Rain in Hindi

बारिश का मौसम है आया
हम बच्चो के मन को भाया

छू हो गई गर्मी सारी
मारे हम सब मिलकर किलकारी

बारिश आई बहार लाई
बारिश आई बहार लाई।

कागज की हम नाव चलाए
छप छपा नाचे और नचाए

मजा आ गया तगड़ा भारी
आखों मै आ गई खुमारी
बारिश आई बहार लाई।

best Poem On Rain

Poem For Rain in Hindi 

छम छम बुँदे बरखा की
लेकर आयी एक संगीत नया

हरियाली व प्रेम का
बना हुआ हो जैसे संगीत नया

मन को भाने लगता सावन
हर चितवन हो गई है पावन

मेघों ने मानों झूमकर
धरती की प्यास बुझाई है

खेलकर खेतों में
फैलकर रेतों में

मतवाली बरखा आई है
संग अपने

त्यौहारों की भी
खुशहाली वो लाई है

Poem On Rain In Hindi 

वर्षा ऋतु तू ऋतुओ की रानी है ।
तेरे न आने से हाहाकार मच जाता ।।

तेरे बिना जीवन संकट में पड़ जाता ।
चहु और त्राहि त्राहि मच जाती ।।

तेरे बिना सब नदी नाले और तालाब सुख जाते ।
सब प्राणियों का जीवन तुझ से है ।।

तेरे बिना जल, अन्न, जीवन असंभव है ।
वर्षा ऋतु तू सबसे सुहावनी और जीवनदायनी है ।।

तेरे आने से सुखा बीज भी अंकुरित हो उठता है ।
तेरे आने से बागानों के फुल खिल उठते है ।।

वर्षा तू जब आती है धरा की प्यास भूझ जाती है ।
धरती पुत्र के मुंह पर मुस्कान आ जाती है ।।

तेरे आने से जीवन की रेलगाड़ी दौड़ने लग जाती है ।
वर्षा ऋतु तू ऋतुओ की रानी है ।।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > 7+ फूलों पर बेहतरीन कविताएँ

हम आशा करते है की हमारे द्वारा लिख गयी Poem For Rain in Hindi पंसद आयी होगी इसे अपने फेसबुक और व्हाट्सअप की मदद से शेयर करना  न भूले और आपके सवाल हमें कमेंट करके जुरूर बताये। धन्यवाद 

Admin

Hello, My name is vishnu. I am a second-year college student who likes blogging. Please have a look at my latest blog on hindiscpe

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published.