Poem On Republic Day In Hindi

26 जनवरी पर देशभक्ति कविताएँ – Poem On Republic Day In Hindi

Poem On Republic Day In Hindi दोस्तों आज हमने गणतंत्र दिवस पर कविता लिखी है गणतंत्र दिवस हमारे देश का एक मह्त्वपूण त्योहार है जिसे देश के सभी लोग बढे धूम धाम से मानते है। इस दिन हमारे देश का सविधान लागु हुआ था और हमारे देश को एक नई पहचान मिली थी।

बहुत से लोगो और बच्चो को अपने विद्यालय में गणतंत्र दिवस पर कविता लिखनी होती है। इसलिए हमने 26 जनवरी पर कविता लिखी है।हमारी कविता को फेसबुक और व्हाट्सअप पर शेयर करना न भूले।

Best Poem On Republic Day In Hindi

Poem On Republic Day In Hindi

गणतंत्र हुआ जब देश हमारा
वीरो की शहादत रंग लाई
आजादी का नया रंग तब
देश को समझ आई।

सविधान के नए पन्नो पर
भारत का भविष्य नज़र आया
भारत का बच्चा बच्चा फिर
जय भारती का राग सुनाया।

खुशहाली का नया रंग
तब था छाया भारत पर
तीन रंग का अपना तिरंगा
फिर लहराया भारत पर।

Hindi Poem On Republic Day

Hindi Poem On Republic Day

भारत देश हमारा है
यह हमको जान से प्यारा है।

दुनिया में सबसे प्यारा
यह आखो का तारा हमारा।

मोती है इसके कण कण में
बूंद बूंद में सागर है।

प्रहरी बना हिमालय बैठा
धरा सोने की घागर है।

भूमि ये वीर जवानो की
है वीरो की बलिदानो की।

रत्नो के भंडार भरे है
गाथा स्वामीण खानो की।

सत्य अहिंसा शांति बाटना
इसकी शान तिरंगा है।

कोटि कोटि भारत वालो को
सुन्दर सा यह नंदन है।

Ganatantra Divas Per Kavita

Ganatantra Divas Per Kavita

एक दिन ही सही
शहीदों के नाम कर लेना

मिले कभी जब भारत माता
तुम उन्हें प्रणाम कर लेना

मुमकिन हो अगर तो
राजगुरु और आजाद सा काम कर लेना

गरीबों में पैसा ना सही
शिक्षा ही दान कर लेना

करनी हो जब मांग किसी से
देश में अमन और शांति की मांग कर लेना

रहे ना हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई में भेदभाव
तुम दिवाली को ईद क्रिसमस को रमजान कर देना

एक दिन ही सही
शाहदतो के नाम कर लेना।

मिले कभी जब भारत माता
तुम उन्हें प्रणाम कर लेना…

बनी रहे हमेशा मात्र भाषा की जान
तुम हिंदी को हिन्दुस्थान कर देना

ज़िन्दगी की आखिरी सांस तक तुम
वन्दे मातरम का गुणगान कर लेना…
जय हिन्द जय भारत

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी >  Slogans On Republic Day

26 January Poem In Hindi 

26 January Poem In Hindi 

देश हमारा सबसे प्यारा
बच्चो इसे प्रणाम करो…

हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई
साथ यहा सब रहते हैं।

सुख दुख जो भी इनको
मिलते सारे मिलकर सहते है

सबने मिलकर ठान लिया है
भारत का यशगान करो
बच्चो इसे प्रणाम करो।

होली दिवाली क्रिसमस
सब हम त्योहार मानते हैं

ओर ईद के अवसर पर हम
सबको गले लगाते हैं।

यह भारत की परम्परा है
इसका तुम समान करो

बच्चो इसे प्रणाम करो…
मानवता की रक्षा करते

मानव धर्म निभाते हैं
ठुकराया हो जिसको सब ने

हम उसको अपनाते हैं
ऐसा भारत अपना भारत

इसका तुम गुणगान करो
बच्चो इसे प्रणाम करो…

देश हमारा सबसे प्यारा
बच्चो इसे प्रणाम करो।
गणतंत्र दिवस की शुभकामना

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > :Essay On Republic Day In Hindi

Short Poem On Republic Day

Short Poem On Republic Day

जब मूल्ला को मजीद में
राम नजर आए,
जब पंडित को मंदिर से
हनुमान नजर आए,
सूरत ही बदल जाए
इस दुनिया की,
अगर इंसान को इंसान
में इंसान नजर आए।

तीन रंग का नहीं ये वस्त्र
ये ध्वज देश की शान है
हम भारतीय दिलो का स्वाभिमान है
यही है गंगा यही हिमालय
यही हिन्द की जान है
ओर तीन रंगो में रंगा हुआ है
ये अपना हिन्दुस्थान है।

Poem On 26 January 

Short Poem On Republic Day

मुझको अपना देश पसंद है
इसका हर संदेश पसंद है

इसकी मिट्टी में मुझको
आती शोंधी सी सुगन्ध है

इसको हर एक बात निराली
इसकी हर सौगात निराली

इसके वीरो की घाथा सुन
आती नई एक उमंग है

कितनी भाषा कितने लोग
हर एक की एक नई सोच

संस्कृति सभ्यता भले ही हो भिन
मिलते एकता के चिन्ह

जो गर देश पर आए आच
एक होकर सब आए साथ

मेरा देश है बड़ा महान
ये है एक गुणों की खान

देखली हमने सारी दुनिया
पर न देखा भारत जैसा

इस मिट्टी में जन्म लिया है
इसकी हवाओं की ठंडक से

सासी पाते नए जन्म है
मुझको मेरा देश पसंद है।

Republic Day Hindi Poem 

Republic Day Hindi Poem 

धरती से सीखा है हमने
सबका बोझ उठाना
ओर गगन से सीखा
हमने ऊपर उठते जाना

सूरज की लाली से सीखा
जग आलोकित करना
चंदा की किरणों से सीखा
सबकी पीढ़ा हरना

पर्वत से सीखा है हमने
द्रड संकल्प बनाना
ओर नदी से सीखा
हमने आगे बढ़ते जाना

सागर की लहरों से सीखा
सुख दुख को सहजाना
तूफानों ने सिखलाया है
आफत से टकराना।
गणतंत्र दिवस की शुभकामना

Republic Day Par Kavita 

युगों युगांतर से चली आ रही यह परम्परा है
यह भारत भूमि तो शूरवीरों की धरा है।

इस धरा पर लिया जन्म यह सौभाग्य हमारा
जिसको हमने ललकारा वो हमसे मरा है

गणतंत्र दिवस पर लहराता तिरंगा हमारा है
मंदिर मस्जिद गिरजाघर ओर गुरुद्वारा हमारा है

विभिन्नता में एकता वाला देश हमारा है
तीन रंग का हमारा झंडा तिरंगा सबसे न्यारा है

सदियों से यह बलिदान हमारा है
गुलामी की जंजीरों को सहना अब हमको नहीं गवारा है

इस पावन धरा पर बहती यमुना गंगा ब्रह्मपुत्र सतलुज
जैसी नदियों की धारा है

आज खुले है द्वार हर मंदिर के गूंजा भारत सारा है
धरती अपनी अंबर सूरज चांद हमारा है।

बोल उठा भारत का कण-कण शुभ्र बलिदान हमारा है।
हम है स्वतन्त्र भारत वासी सब ने यही पुकार है

स्वतन्त्र दिवस की पावन बेला पर लहराता तिरंगा हमारा है।
गणतंत्र दिवस की शुभकामना

अगर आपको हमारा आर्टिकल Poem On Republic Day In Hindi पसंद आया तो अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करना न भूले और साथ ही कोई सवाल या शुजाव हो तो कमेंट करके जरूर बताये। धन्यवाद 

Admin

Hello, My name is vishnu. I am a second-year college student who likes blogging. Please have a look at my latest blog on hindiscpe

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *